सुन्दर वह, जो सुन्दर काम करे

फिल्म रोम

रोमन हॉलीडे में ऑड्री हेपबर्न

मेरे लिये वास्तविक सुन्दरता का अर्थ है सुन्दर कार्य करना। इस बारे में ऑड्री हेपबर्न के बारे उनकी कुछ बातें।

बचपन में, ऑड्री हेपबर, मेरी प्रिय कलाकारा  थीं। मैंने ‘हमने जानी है रिश्तों में रमती खुशबू‘ श्रृंखला के अन्तर्गत, उनके बारे में ‘अनन्त प्रेम‘ एवं उनकी प्रसिद्ध फिल्म ‘रोमन हॉलीडे‘ के बारे में भी लिखा था। ऑड्री हेपबर्न का चित्र मेरे कमरे की दीवालों पर बहुत समय तक रहा।

हम सब मित्र अपने बचपन की यादों को संजोये हैं और अक्सर उनके बारे में बात करते हैं। हम सब की पत्नियां भी इसका हिस्सा रहती हैं। कुछ दिन पहले मेरे मित्र की पत्नी ने ई-मेल कर मुझे ऑड्री हेपबर्न कर द्वारा महिलाओं के लिये कहे गये सुन्दरता के बारे विचार बताये। यह पुरोषों के लिये भी सच हैं। वह कहती हैं,

‘For attractive lips, speak words of kindness.
खूबसूरत ओठ के लिए विन्रमता के शब्द बोलें।

For lovely eyes, seek out the good in people.
खूबसूरत आँखों के लिए, लोगों में अच्छाइयाँ ढूंढो।

For a slim figure, share your food with the hungry.
खूबसूरत काया के लिए अपने भोजन को जो भूखे हों उनमें बांटे।

For beautiful hair, let a child run his or her fingers through it once a day.
खूबसूरत बालों के लिए दिन में, एक बार किसी छोटे बच्चे एवं बच्चियों से बाल में अंगुली फिरवायें।

For poise, walk with the knowledge that you never walk alone.
खूबसूरत चाल के लिये, यह सोच कर चलें कि आप अकेले नहीं हैं।

Remember, if you ever need a helping hand, you’ll find them at the end of each of your arms. As you grow older, you will discover that you have two hands, one for helping yourself, the other for helping others.
याद रखें कि यदि आपको कभी किसी की मदद की आवश्यकता हो उन्हें अपने दोनों कंधों के अन्त में पायेगे। जैसे, जैसे आप अधिक आयु के होगें आपको ज्ञात होगा कि आपके पास दो हाथ हैं जिसमें कि  और एक हाथ आपके स्वयं के मदद के लिए तथा दूसरा, दूसरों की मदद के लिए है।

The beauty of a woman is not in the clothes she wears, the figure that she carries, or the way she combs her hair. The beauty of a woman must be seen from in her eyes, because that is the doorway to her heart, the place where love resides.
स्त्री की खूबसूरती उनके कपड़ों या उनके शरीर में या किस तरह से बाल झाड़ती है उससे नहीं है। उनकी खूबसूरती उनकी आँखों में देखी जा सकती है। यही रास्ता उनके दिल तक पहुंचने का है। जहां पर प्यार निवास करता है।

The beauty of a woman is not in a facial mode, but the true beauty in a woman is reflected in her soul. It is the caring that she lovingly gives, the passion that she shows.
औरतों की खूबसूरती उनके चेहरों से नहीं होती है परन्तु उनकी आत्मा से झलकती है। उनकी खूबसूरती प्रेमपूर्वक दूसरों का ध्यान और ख्याल रखने के जोश में है।

The beauty of a woman grows with the passing years.
समय बीतने के साथ औरतों की खूबसूरती और बढ़ती है।’

ऑड्री हेपबर्न ने, न केवल कहा पर अपने कहे पर अमल भी किया। वे बहुत सालों तक (UNICEF) के साथ संबन्धित रहीं और उसके लिये काम किया। इन सब बातों ने उन्हें कितना सुन्दर बनाया, यह इस चित्र से पता लगता है।

यह चित्र उसी ईमेल के साथ आया था।

मेरे विचार से वास्तविक सुन्दरता का यही अर्थ है लेकिन यह वही समझ सकता है जो इसे पर अमल करे – जैसा हेपबर्न ने किया।

सांकेतिक शब्द
culture, Family, Inspiration, life, Life, Relationship, जीवन शैली, समाज, कैसे जियें, जीवन, दर्शन, जी भर कर जियो,

के बारे में उन्मुक्त
मैं हूं उन्मुक्त - हिन्दुस्तान के एक कोने से एक आम भारतीय। मैं हिन्दी मे तीन चिट्ठे लिखता हूं - उन्मुक्त, ' छुट-पुट', और ' लेख'। मैं एक पॉडकास्ट भी ' बकबक' नाम से करता हूं। मेरी पत्नी शुभा अध्यापिका है। वह भी एक चिट्ठा ' मुन्ने के बापू' के नाम से ब्लॉगर पर लिखती है। कुछ समय पहले,  १९ नवम्बर २००६ में, 'द टेलीग्राफ' समाचारपत्र में 'Hitchhiking through a non-English language blog galaxy' नाम से लेख छपा था। इसमें भारतीय भाषा के चिट्ठों का इतिहास, इसकी विविधता, और परिपक्वत्ता की चर्चा थी। इसमें कुछ सूचना हमारे में बारे में भी है, जिसमें कुछ त्रुटियां हैं। इसको ठीक करते हुऐ मेरी पत्नी शुभा ने एक चिट्ठी 'भारतीय भाषाओं के चिट्ठे जगत की सैर' नाम से प्रकाशित की है। इस चिट्ठी हमारे बारे में सारी सूचना है। इसमें यह भी स्पष्ट है कि हम क्यों अज्ञात रूप में चिट्टाकारी करते हैं और इन चिट्ठों का क्या उद्देश्य है। मेरा बेटा मुन्ना वा उसकी पत्नी परी, विदेश में विज्ञान पर शोद्ध करते हैं। मेरे तीनों चिट्ठों एवं पॉडकास्ट की सामग्री तथा मेरे द्वारा खींचे गये चित्र (दूसरी जगह से लिये गये चित्रों में लिंक दी है) क्रिएटिव कॉमनस् शून्य (Creative Commons-0 1.0) लाईसेन्स के अन्तर्गत है। इसमें लेखक कोई भी अधिकार अपने पास नहीं रखता है। अथार्त, मेरे तीनो चिट्ठों, पॉडकास्ट फीड एग्रेगेटर की सारी चिट्ठियां, कौपी-लेफ्टेड हैं या इसे कहने का बेहतर तरीका होगा कि वे कॉपीराइट के झंझट मुक्त हैं। आपको इनका किसी प्रकार से प्रयोग वा संशोधन करने की स्वतंत्रता है। मुझे प्रसन्नता होगी यदि आप ऐसा करते समय इसका श्रेय मुझे (यानि कि उन्मुक्त को), या फिर मेरी उस चिट्ठी/ पॉडकास्ट से लिंक दे दें। मुझसे समपर्क का पता यह है।

4 Responses to सुन्दर वह, जो सुन्दर काम करे

  1. मीनाक्षी says:

    बेहद खूबसूरत भाव…. यही तो खूबसूरती है….. लेकिन लोग सबसे पहले अपनी आँखों पर विश्वास करते हैं …बहुत देर बाद उन्हे अन्दर की खूबसूरती दिखाई देती है…

  2. Wow! Very nice

  3. एकदम सही, जो सुंदर काम करे, वही सुंदर।

  4. रचना says:

    Namaste!!

    I loved this beautiful post! I wish you win in this contest as the prize money will be used for a beautiful cause…

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: